Best Collection Of Attitude Shayari, Love Shayari, Romantic Shayari

Attitude Shayari|Are you Searching For Attitude Shayari? Yes Then you are at the right place I shall Share Attitude Shayari, Love, Romantic Shayari With Images you can easily Download and share Attitude Shayari Images, Romantic Shayari Images without any hesitation.

Attitude Shayari

सहारे ढूढ़ने की आदत नहीं हमारी, हम अकेले पूरी महफ़िल के बराबर हैं।
मेरी सादगी ही गुमनाम में रखती है मुझे, जरा सा बिगड़ जाऊं तो मशहूर हो जाऊं।
थोड़ी खुद्दारी भी लाजिमी थी दोस्तो, उसने हाथ छुड़ाया तो हमने छोड़ दिया।
ज़र्रों मे रहगुजर के चमक छोड़ जाऊँगा, पहचान अपनी दूर तलक छोड़ जाऊँगा, खामोशियों की मौत गंवारा नहीं मुझे, शीशा हूँ टूटकर भी खनक छोड़ जाऊँगा।
हम भी बरगद के दरख़्तों की तरह हैं, जहाँ दिल लग जाए वहाँ ताउम्र खड़े रहते हैं।
सूरज ढला तो कद से ऊँचे हो गए साये, कभी पैरों से रौंदी थी यहीं परछाइयां हमने।
हक़ से दो तो तुम्हारी नफरत भी कबूल हमें, खैरात में तो हम तुम्हारी मोहब्बत भी न लें।
अजीब सी आदत और गज़ब की फितरत है मेरी, मोहब्बत हो कि नफरत हो बहुत शिद्दत से करता हूँ।

Love Shayari 2019

आखों की गहराई में तेरी खो जाना चाहता हूँ आज तुझे बाँहों में लेकर सो जाना चाहता हूँ तोड़ कर हदे मैं आज सारी अपना तुझे बना लेना चाहता।
तुम्हारा नाम आया और हम तकने लगे रास्ते तुम्हारी याद आई और खिडकी खोल दी हमने।
तुम्हारे बाद भला जिंदगी कहाँ जीते तुम्हारे बाद तो साया भी हमसफर न था।
अजीब तौर तरीके हैं उसके भी यारों वो मुझसे प्यार तो करता है, पर नहीं करता।
मुझे हमसफर तेरी रफ्तार से चलना नहीं आया तेरे अपने दलाईल हैं मेरे अपने मसाइल हैं।
कोयल कूकी मौज-ए सबा पाऊँ में घुंघरू बांध लिए प्यार का नगमा छेड रहा है आज कोई शननई में।
नजाकत लेके आँखों में वो उनका देखना तौबा मौला हम उन्हें देखें या उनका देखना देखें।
सिर्फ याद बनकर न रह जाये प्यार मेरा कभी कभी कुछ वक्त के लिए आया करो।

Romantic Shayari

प्यार मोहब्बत आशिकी ये बस अल्फाज थे मगर जब तुम मिले तब इन अल्फाजो को मायने मिले।
नफरतों के जहाँ में हमको प्यार की बस्तियां बसानी हैं, दूर रहना कोई कमाल नहीं पास आओ तो कोई बात बने।
आप जब तक रहेंगे आँखों में नजारा बनकर, रोज आयेंगे मेरी दुनिया में उजाला बनकर।
आप जब तक रहेंगे आँखों में नजारा बनकर, रोज आयेंगे मेरी दुनिया में उजाला बनकर।
तुम मुझे कभी दिल से कभी आँखों से पुकारो, ये होंठों के तकल्लुफ तो ज़माने के लिए हैं।
अच्छा लगता है तेरा नाम मेरे नाम के साथ, जैसे कोई खुबसूरत जगह हो हसीन शाम के साथ।
हाथ पर हाथ रखा उसने तो मालूम हुआ, अनकही बात को किस तरह सुना जाता है।
मैं दीवाना हूँ तेरा मुझे इनकार नहीं, कैसे कह दूँ कि मुझे तुमसे प्यार नहीं, कुछ शरारत तो तेरी नजरों में भी थी, मैं अकेला ही तो इसका गुनहागार नहीं।
Also, Look Here:
Previous
Next Post »